Category: प्रार्थना, परमात्मा और हम लोग

गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏

बुद्धिमत्ता, समृद्धि और सौभाग्य के प्रतीक प्रथम पूज्य भगवान श्री गणेश जी की आराधना के महापर्व गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएं। शुभ कार्यों में सफलता का वरदान देने वाले भगवान गणेश इस बात का भी प्रतीक हैं की जिंदगी में खत्म होने जैसा कभी… Continue Reading “गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏”

आत्माराम

असल मे तो राम और आत्मा में फासला शुरू से ही नही है, पर हम इस बात को देर से समझते हैं या शायद समझते ही नही हैं। हम ही तो आत्माराम हैं जिसमे दोनों हैं। आप और परमात्मा कभी भी अलग नहीं थे,… Continue Reading “आत्माराम”

मन के अनुकूल हो तो हरि कृपा और मन के विपरीत हो तो हरि इच्छा।

ये सत्य हम सब जानते हैं कि जो इस ब्रह्मांड के रचियता हैं उन्होंने ही हमे भी रचा है। ये जो आवागमन का खेल चल रहा है, जिसे आप अपना खेला समझ रहे हैं उसे खेलने वाला कोई और ही है। उनका ये खेल… Continue Reading “मन के अनुकूल हो तो हरि कृपा और मन के विपरीत हो तो हरि इच्छा।”

प्रार्थना

वे सब रावण ही तो हैं जो कई कई चेहरे ले कर और अपने झूठ को गर्व से माथों पर सजाए घूम रहे हैं। हम सबने सुना है कि रावण के दस सिर थे। मगर लोग तो जाने कितने चेहरे लिये घूम रहे हैं… Continue Reading “प्रार्थना”

प्रार्थना

केवल अप्राप्त को प्राप्त करना ही नही, बल्कि जो मिला है, प्राप्त है, मौजूद है या फिर जो भी जीवन यात्रा में प्राप्त होता जाये, मिलता जाये – उसके साथ और उसका उत्सव मनाना, नृत्य करना, गीत गाना और धन्यवाद देना ही बस जीवन… Continue Reading “प्रार्थना”

ईश्वर जो सदा से प्रकट हैं, जो सब जगह मौजूद हैं। क्या आप उन्हें पहचानते हैं?

ईश्वर तो सदा से प्रकट हैं, सब जगह मौजूद हैं। जो पहले से प्रकट है वो और अधिक क्या प्रकट होंगे। हाँ, ये हो सकता है कि अभी आप उन्हें पहचानते नहीं हो। जिस किसी को भी आपके भीतर सम्भावनायें, अच्छाई दिखाई दे रही… Continue Reading “ईश्वर जो सदा से प्रकट हैं, जो सब जगह मौजूद हैं। क्या आप उन्हें पहचानते हैं?”

प्रार्थना

मेरे विचार में परमात्मा का एक अर्थ है हमारे अपने अस्तित्व की ऊर्जा, हमारा आनन्द, प्रेम एवं आंतरिक सौंदर्य, शक्ति, कौशल तथा हमारा बुद्धत्व, जो हम सब में समाहित है। जिसे हम बहकने की वजह से, मूर्खता, अहंकार या शायद उलझनों के कारण जान… Continue Reading “प्रार्थना”

प्रार्थना

जीवन मे सब महत्वपूर्ण चीजें जैसे कि मनुष्य जन्म, मृत्यु, मोक्ष, परिवार, बंधन, यश व अपयश परमात्मा के हाथ में ही हैं। आज भी ये सब उन्ही के यानी के प्रकृति के हाथों में ही है। इसीलिए भलायी इस मे है कि जीवन को… Continue Reading “प्रार्थना”

प्रार्थना

प्रतिपल ईश्वर को अपने जीवन की रक्षा करने के लिए कहना, उन्नति के लिये कहना, कभी कोई कठिन परिस्थिति न आये ऐसा कहना या ऐसा सोचना के कभी सूर्यास्त न हो बिल्कुल गलत है। हमे तो समस्त सृष्टि में अखण्ड भाव से विराजमान ईश्वर… Continue Reading “प्रार्थना”

प्रभु हैं, जल्द ही सब ठीक कर देंगे, विश्वास रखिये 🙏

धीरज रखिए… जल्द ही सब कुछ बदल जाएगा। अधिकतर अधिक चिंता करना या डरना ठीक नही होता है। जो भी चीजें, उठा-पटक या शोरगुल, अनावश्यक डर, नकारात्मकता, अशांति और बेचैनी पैदा करते हैं, उनसे बचना चाहिये। मगर जब चारों तरफ सामुहिक डर का माहौल… Continue Reading “प्रभु हैं, जल्द ही सब ठीक कर देंगे, विश्वास रखिये 🙏”