Tag: रोगप्रतिरोधक

सकारात्मक सोच, प्रसन्न चित्त और प्रगति की दिशा में सदैव सक्रिय बने रहना ही अंततः आपके सुख, शांति और सद्गति का कारण बनेगा।

एक बात आपको हमेशा याद रखनी होगी कि आपका स्वास्थ्य, आपकी सेहत, आपकी सांसे, आपका जीवन और आपकी सफलता सिर्फ आपके इरादों, लगन, मेहनत और निरन्तर किये गए शुभ प्रयासों पर ही निर्भर करती है और किसी चीज़ पर नही। मेरी या किसी अन्य… Continue Reading “सकारात्मक सोच, प्रसन्न चित्त और प्रगति की दिशा में सदैव सक्रिय बने रहना ही अंततः आपके सुख, शांति और सद्गति का कारण बनेगा।”