Category: Spiritual

प्रार्थना

आज पहली बात तो ये की देवताओँ और असुरों का अलग कोई अस्तित्व नहीं है। एक ही व्यक्ति में दोनों मौजूद हैं। आप का बेवजह क्रोध, घृणा, ईर्ष्या, या किसी के खिलाफ लगातार नाराजगी, अनिवार्य रूप से आपके असुरत्व को प्रगट करता है और… Continue Reading “प्रार्थना”

राम जैसा नाम और प्रतिष्ठा पर रावण जैसी सोच तथा जीवनशैली।

जब लोग ये मानने लगें हैं कि समस्त धर्मों ने आदमी का शोषण किया है, तो मैं ये बता दूँ कि हमारे धर्म ने, शास्त्रों ने और किसी भी अवतार ने हमे पापी नहीं कहा है। उन्होंने तो सभी को ब्रह्म—स्वरूप माना है। वेद,… Continue Reading “राम जैसा नाम और प्रतिष्ठा पर रावण जैसी सोच तथा जीवनशैली।”

आप जिसे ढूंढ रहे हैं, आप वही हैं।

आप जिसे ढूंढ रहे हैं, मेरा विश्वास करिये, आप वही हैं। 100%। आप जरा खुद के भीतर झाँकिये तो। अपने पूर्णत्व को, अपनी श्रेष्ठता, उच्चता, योग्यता तथा अपने दिव्य सामर्थ्य को जरा पहचानने की कोशिश तो करिये। और हाँ, जो खूबियां या देवत्व आप… Continue Reading “आप जिसे ढूंढ रहे हैं, आप वही हैं।”

संघर्ष ही सफलता की सीढ़ी है।

क्या आप इस बात से सहमत हैं कि कोयला ही हीरा बनता है? या यूँ कहे कि कोई भी कार्बन आधारित पदार्थ चाहे वो राख ही क्यों न हो, हीरों में परिवर्तित होने का नर्संगिक गुण रखते हैं। सदियों तक जमीन में गहरे दबे… Continue Reading “संघर्ष ही सफलता की सीढ़ी है।”

Hope, Renewal & New Life!

Legendary fashion designer Coco Chanel said: Don’t spend time beating on a wall, hoping to transform it into a door It means that move on, stop wishing about “if only” things could have been different. Let you begin to do what you can with… Continue Reading “Hope, Renewal & New Life!”

सूक्ष्म से विषाणु ने दुनिया को आईना दिखा दिया।

आज कुछ नही बस एक सवाल आप सभी से की किस काम की है ये तरक्की या आधुनिकता या विलासता का ये दौर जिसमे एक सूक्ष्म से विषाणु ने पूरी दुनिया को घुटने पर ला दिया? किसी भी देश के परमाणु बम, आसमानों को… Continue Reading “सूक्ष्म से विषाणु ने दुनिया को आईना दिखा दिया।”

Prayer of Light!

I fold my hands before the lord, the maintainer of this creation, in the form of this light. I adore this light, which destroys all the pains resulting from my omissions & commissions.

हर युग के राम

रामनवमी के महापर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ। महान ऋषि वाल्मीकि की ‘रामायण’ में राम एक रूप में आये हैं, तो उन्हीं के लिखे ‘योगवसिष्ठ’ में दूसरे रूप में। ‘कम्ब रामायणम’ में वह दक्षिण भारतीय जनमानस को भावविभोर कर देते हैं, तो श्री तुलसीदास जी के… Continue Reading “हर युग के राम”