Tag: God

ईश्वर और प्रार्थना

ईश्वर प्रेम, पवित्रता और आनन्द के रूप में सभी के ह्रदय में मौजूद है। जब आप इनकी पराकाष्ठा अपने भीतर या बाहर अनुभव करने लगते हैं तो इसका एक मतलब है ईश्वरत्व का अनुभव करना। 👑 ईश्वर का शुष्क चिंतन करके आप सिर्फ खुद… Continue Reading “ईश्वर और प्रार्थना”

Universe Is On Your Side!

Today I want you to believe that this Universe is ‘friendly’ to you, no matter what. That everything, every situation or circumstance is in your best interests. Since my grandma days I have been hearing this & like everyone else, had so many of… Continue Reading “Universe Is On Your Side!”

Destiny – A Vicious Cycle Of Action-Reaction-Action!

In my opinion, we all are absolutely free & there is no predestined destiny for individuals. I mean you are absolutely free to do your deeds, free to think, feel & react. You can not blame the planets for guiding you to do a… Continue Reading “Destiny – A Vicious Cycle Of Action-Reaction-Action!”

आप जिसे ढूंढ रहे हैं, आप वही हैं।

आप जिसे ढूंढ रहे हैं, मेरा विश्वास करिये, आप वही हैं। 100%। आप जरा खुद के भीतर झाँकिये तो। अपने पूर्णत्व को, अपनी श्रेष्ठता, उच्चता, योग्यता तथा अपने दिव्य सामर्थ्य को जरा पहचानने की कोशिश तो करिये। और हाँ, जो खूबियां या देवत्व आप… Continue Reading “आप जिसे ढूंढ रहे हैं, आप वही हैं।”

सोने का नही जागने का प्रयास करना है।

हमारे उपनिषद यह स्पष्ट रूप से कहते हैं कि हम सभी दिव्यस्वरूप है और हम सभी के भीतर ब्रह्म है। लेकिन आप न तो अपने भीतर के ईश्वर अंश को अनुभव कर पाते हैं, और न ही आपके चारों तरफ हर चीज़ में मौजूद… Continue Reading “सोने का नही जागने का प्रयास करना है।”

Who Is Responsible For Your Success & Failures?

I don’t know whether you will agree or not but always believing that a higher power has predetermined our life, it’s purpose & knows what is best for us is not always true. I mean what you want will not magically appear or fall… Continue Reading “Who Is Responsible For Your Success & Failures?”

Prayer of Light!

I fold my hands before the lord, the maintainer of this creation, in the form of this light. I adore this light, which destroys all the pains resulting from my omissions & commissions.

हर युग के राम

रामनवमी के महापर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ। महान ऋषि वाल्मीकि की ‘रामायण’ में राम एक रूप में आये हैं, तो उन्हीं के लिखे ‘योगवसिष्ठ’ में दूसरे रूप में। ‘कम्ब रामायणम’ में वह दक्षिण भारतीय जनमानस को भावविभोर कर देते हैं, तो श्री तुलसीदास जी के… Continue Reading “हर युग के राम”